'भाषान्तर' पर आपका हार्दिक स्वागत है । रचनाएँ भेजने के लिए ईमेल - bhaashaantar@gmail.com या bhashantar.org@gmail.com । ...समाचार : कवि स्वप्निल श्रीवास्तव (फैज़ाबाद) को रूस का अन्तरराष्ट्रीय पूश्किन सम्मान। हिन्दी के वरिष्ठ कवि केदारनाथ सिंह को 49 वाँ ज्ञानपीठ पुरस्कार। भाषान्तर की हार्दिक बधाई और अनन्त शुभकामनाएँ।

भाषान्तर के बारे में

हम कुछ हिंदी प्रेमियों एवं सांस्कृतिक-कर्मियों ने मिलकर तय किया है कि हिंदी साहित्य को इंटरनेट की मुख्यधारा में प्रस्तुत किया जाय। अपने इस प्रयास के अन्तर्गत हम हिंदी के प्रमुख साहित्यकारों के साथ-साथ उन दुर्लभ लेखकों/ कवियों की प्रकाशित/ अप्रकाशित रचनाएँ भी शामिल करेंगे, जो काल-कवलित हो चुके हैं और जिन्हें हिंदी जगत ने लगभग भुला ही दिया है। हमारा प्रयास रहेगा कि हिंदी के उन उपेक्षित रचनाकारों को भी इंटरनेट पर प्रस्तुत किया जाय जिनकी रचनाओं की ओर हिंदी के आलोचक कोई ध्यान नहीं देते हैं साथ ही हम भारतीय लोक साहित्य एवं बाल साहित्य को भी इंटरनेट पर सुरक्षित करने की कोशिश करेंगे। हिंदी में विदेशी साहित्य का लगातार अनुवाद हो रहा है किन्तु वह अनुवाद एक बार प्रकाशित होने के बाद पुनर्प्रकाशन के अभाव में विलुप्त हो जाता है, हम उसको भी संरक्षित करने का प्रयास करेंगे। यह सब कठिन बहुत है पर आप सभी का साथ होने से सब मंगल होगा, ऐसा हमें विश्वास है। 
- भाषान्तर परिवार 
भारत 
01 फरवरी 2014