'भाषान्तर' पर आपका हार्दिक स्वागत है । रचनाएँ भेजने के लिए ईमेल - bhaashaantar@gmail.com या bhashantar.org@gmail.com । ...समाचार : कवि स्वप्निल श्रीवास्तव (फैज़ाबाद) को रूस का अन्तरराष्ट्रीय पूश्किन सम्मान। हिन्दी के वरिष्ठ कवि केदारनाथ सिंह को 49 वाँ ज्ञानपीठ पुरस्कार। भाषान्तर की हार्दिक बधाई और अनन्त शुभकामनाएँ।

गगन गिल

गगन गिल
प्रमुख संग्रह:
  • एक दिन लौटेगी लड़की / गगन गिल (कविता संग्रह)
  • अँधेरे में बुद्ध / गगन गिल (कविता संग्रह)
  • यह आकांक्षा समय नहीं / गगन गिल (कविता संग्रह)
  • थपक थपक दिल थपक थपक / गगन गिल (कविता संग्रह)
प्रतिनिधि रचनाएँ:
  • निचुड़ा-निचुड़ा / गगन गिल
  • जल गगन मगन / गगन गिल
  • बच्चे तुम अपने घर जाओ / गगन गिल
  • वह सचमुच / गगन गिल
  • एक कोई जगह है / गगन गिल
  • एक दिन सब / गगन गिल
  • यह रहा / गगन गिल
  • तुम्हारे बिन एक दिन / गगन गिल
  • हम जो आए तुम्हारे शहर / गगन गिल
  • उसके मुँह में / गगन गिल
  • हमारे लिए घर नहीं, संताप है / गगन गिल
  • आधे रस्ते तुम चलते हो / गगन गिल
  • यह दरख़्त / गगन गिल
  • न मैं हँसी, न मैं रोयी / गगन गिल
  • एक उम्र के बाद माँएँ / गगन गिल
  • खुशआमदीद / गगन गिल
  • प्रेम तो नहीं है यह लड़की / गगन गिल
  • दोस्त के इंतज़ार में / गगन गिल
  • शहर में उसके दुःख बसता है / गगन गिल
  • विदा किया / गगन गिल
  • रुक कर / गगन गिल
  • जा कर / गगन गिल
  • उसके एकांत में / गगन गिल
  • आवाज़ उसकी / गगन गिल
  • जैसे इतने दिन / गगन गिल
  • जाते हुए / गगन गिल
  • यह रहा उसका घर-1 / गगन गिल
  • यह रहा उसका घर-2 / गगन गिल
  • यह रहा उसका घर-3 / गगन गिल
  • एक दिन वह जागेगी / गगन गिल
  • एक दिन सब / गगन गिल
  • मेरी साँस में लकीर / गगन गिल
  • निस्संतान / गगन गिल
  • दुख उसने / गगन गिल
  • कव्वे / गगन गिल
  • यहाँ / गगन गिल
[ श्रेणी : कवि । गगन गिल । परिचय ]